Home > Scriptures - Granth >

भक्ति - प्रकाश 
Bhakti Prakash

eBook by Shree Ram Sharnam, New Delhi


जो भावनावान भावुक जन, भागवती भक्ति - भागीरथी में स्नान करने के इच्छुक हैं, जो भक्ति धर्म के मर्म को जानना चाहते हैं, और जो भक्ति योग के सच्चे, सरल, सरस, सुपथ पर चलने के अभिलाषी हैं उनको स्वामी सत्यानन्द - रचित, भक्ति - प्रकाश ग्रन्थ सुमननपूर्वक पढना चाहिए 
SELECT TOPIC
शब्द - प्रकाश      
मंगलाचार नमस्कार सप्तक पूजा पाठ आरती
ध्यान स्तुति प्रार्थना पुष्पांजलि

- प्रातः
- सायं
- सोते समय
- कार्य
- आजीविका
- भ्रातृभाव
- भोजन समय
-
भोज्नांतर

 
विनय कामना कमल कुंज प्रेम मधुर मिलाप
गुरू महिमा भक्ति लगन नाम की महिमा
सिमरन सेवा भक्त की भावना वियोग
अनुताप अश्रु प्रेम संदेश मतवाला योगी नन्दन वन
भरोसा मन मुमुक्षु संध्या राम कृपा अवतरण
समाधि घट मन्दिर कृतज्ञता ईश्वर स्वरूप - राम सत्स्वरूप है
राम ज्ञान स्वरूप है राम आनंद स्वरूप है राम सर्वशक्तिमान् है राम प्रेम स्वरूप है
राम मुनिजन अनुभूत वस्तु है लीला    
 
साधन - प्रकाश      
काया के साधन वचन के साधन पिशुनता तथा ईर्ष्या इन्द्रिय - संयम
आदर शुद्धि कुण्डलिनी प्रबोध काया - शोधक प्राणायाम मन को प्रबोधन
आत्मोद्बोधन अपने आप को उपदेश आत्मिक भावनाएं

- सत्य भावना
- ज्ञान भावना
- सुख भावना
- शक्ति भावना
- पवित्र भावना
- शांत भावना
- प्रिय भावना
- सफल भावना
- मनोबल भावना
- वैधुत भावना
- अनंत भावना
-
अहम भावना

नारायण धर्म्म

- यम्
- नियम
- निष्काम कर्म
- चार वर्ण
-
धर्म के दस लक्षण

वेद सार गीता सार

- आत्म ज्ञान
- कर्म योग
-
भक्ति

उपनिषत्सार

- कर्म
- ब्रह्म ज्ञान
- ब्रह्म ज्ञानी
- ब्रह्म पूजन
-
आत्म - ज्ञान

उपदेश मंजरी - ग्रन्थ पाठ
सत्संगति सज्जन मित्र गुणी
निर्गुणी अधिकारी सेवक सूरमा
स्वामी नेता एकता मूर्ख
चतुर जन जागृति नाना उक्तियाँ शिष्टाचार
 
भक्त - प्रकाश       
जनक जनक ज्ञान भागवत शुकदेव सुलभा
अष्टावक्र याग्वाल्क्या का आत्म - दर्शन भागवती गार्गी मैत्रियी
मैत्रियी पराशर संवाद भरद्वाज भक्त निषाद शबरी
परम भागवत शरभंग सती अनसूया अगस्त्य ऋषि मंदालसा
हनुमान जड़ भरत सनत्कुमार नारद
विभिक्षण सावित्री सुतीक्ष्ण देवहूती
विदुर जी ध्रुव प्रह्लाद भीष्म
युधिष्ठिर मुदगल मुनि अश्वपति शौनक
मार्कण्डेय कौशिक श्रवण तुलाधार
रामानंद समर्थ राम दास श्री शिवा जी श्री चैतैन्य
हरी दास सदना कसाई कुसुम्भी वेश्या तुका राम
महाराणा प्रताप सिंघ हकीकत राय बन्दा मीरा बाई
 
कथा - प्रकाश       
सिमरन सावित्री पाठ हरि भजन सेवा
दान सत्संग यज्ञ धर्म्म
कर्म्म सदाचार आलोचना प्रायश्चित
आपत्काल श्रद्धा भगवद्भक्ति बंधु भावना
दया अहिंसा ज्ञान तप
त्याग वैराग्य आत्म - सत्ता बंध और मोक्ष
वीरता सम भाव मानव जन्म की महत्ता प्रेम पथ

कठिन शब्दों के अर्थ
(Glossary of Difficult Words)

     

available at:
Shree Ram Sharnam
International Spiritual Centre
8A, Ring Road
Lajpat Nagar - IV
New Delhi - 110 024
India

प्रकाशक एंव प्राप्ति स्थान 
श्री स्वामी सत्यानन्द धर्मार्थ ट्रस्ट 
श्री राम शरणम 
८अ, रिंग रोड़ , लाजपत नगर - ४ 
नई दिल्ली - ११००२४   इंडिया

Organization | Philosophy I  Peerage | Visual Gallery I Publications & Audio Visuals I Prayer Centers I Contact Us

InitiationSpiritual ProgressDiscourses I Articles I Schedule & Program I Special Events I Messages I  Archive

 

  Download | Search | Feed Back I Subscribe | Home

Copyright   Shree Ram Sharnam,  International Spiritual Centre,

8A, Ring Road, Lajpat Nagar - IV,  New Delhi - 110 024, INDIA